आईपीएस सुष्मित बिश्वास की बेटी आशिरा को प्रतिष्ठित द जी. कीथ फंस्टन पुरस्कार इन इकोनॉमिक्स से किया गया सम्मानित

*यूएसए के ट्रिनिटी कॉलेज में क्वांटिटेटिव इकोनॉमिक्स में बैचलर ऑफ साइंस के अंतिम वर्ष की छात्रा है आशिरा

On
आईपीएस सुष्मित बिश्वास की बेटी आशिरा को प्रतिष्ठित द जी. कीथ फंस्टन पुरस्कार इन इकोनॉमिक्स से किया गया सम्मानित

अर्थशास्त्र में उत्कृष्ट शैक्षणिक उपलब्धि और कॉलेज की सेवा के लिए मिला पुरस्कार

जयपुर, 06 मई। आईपीएस सुष्मित बिश्वास की बेटी आशिरा को यूएसए में प्रतिष्ठित द जी. कीथ फंस्टन पुरस्कार इन इकोनॉमिक्स से सम्मानित किया गया है। यूएसए के ट्रिनिटी कॉलेज में क्वांटिटेटिव इकोनॉमिक्स में बैचलर ऑफ साइंस के अंतिम वर्ष की छात्रा है।  श्री बिस्वास वर्तमान में राजस्थान मानव अधिकार आयोग में अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस के पद पर है।
       
सुश्री बिस्वास को ट्रिनिटी कॉलेज यूएसए का एकेडमिक टॉपर (भारतीय विश्वविद्यालय में स्वर्ण पदक के बराबर) घोषित किया गया है।  अर्थशास्त्र में उत्कृष्ट शैक्षणिक उपलब्धि और कॉलेज की सेवा के लिए आशिरा को द जी. कीथ फंस्टन पुरस्कार से 3 मई को  कॉलेज के वार्षिक सम्मान दिवस समारोह में सम्मानित किया गया। 
       
समारोह में सुश्री बिश्वास को नगद पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। इनकी आगे ग्लोबल फाइनेंस सेक्टर में अपना करियर बनाने की योजना है।
      
इससे पहले भी आशिरा विश्वास ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में अध्ययन के दौरान एक विश्व स्तर की प्रतियोगिता में दूसरा स्थान हासिल किया था। जिसके लिए नोबेल समिति ने साल 2022 में नार्वे की राजधानी ओस्लो में आयोजित नोबेल शांति पुरस्कार समारोह में इन्हें औपचारिक रूप से आमंत्रित किया था।
                   ----------------

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Latest News

 करवाएं Jio का ये रिचार्ज, फ्री में मिलेगा Netflix करवाएं Jio का ये रिचार्ज, फ्री में मिलेगा Netflix
ओटीटी प्लेटफॉर्म पर सीरीज और मूवी देखना आज कल काफी ट्रेंड में है। लेकिन जब हमारे पास इनका सब्सक्रिप्शन नहीं...
क्रिकेट कोच आशीष शर्मा ने पूर्ण किया बीसीसीआई लेवल टू कोचिंग कोर्स
दिल्ली की सातों सीटों पर भाजपा ने किया जीत का दावा
मंदिर के पास शराब बेच रही एक महिला को पुलिस ने हिरासत में लिया
मतगणना को लेकर मतगणना केंद्र की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी ने दिए आवश्यक निर्देश
उत्तराखंड हाई कोर्ट को नैनीताल से स्थानांतरित करने के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक
देश में समान नागरिक संहिता लागू करना मेरा संकल्पः नरेन्द्र मोदी