अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल या हाई सुविधा जेल

On
अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल या हाई सुविधा जेल

जेल में सुविधाओं के बदले लाखों रुपए की वसूली, दो जेल प्रहरी सहित 11 गिरफ़्तार

अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल अब हाई सुविधा जेल बनती जा रही है जी हां राजस्थान की सबसे सुरक्षित अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में बंद लॉरेंस गैंग के बदमाशों से मोबाइल और अन्य सुविधाओं के बदले हर माह लाखों रुपयों की वसूली का ख़ुलासा हुआ है कि इससे पूर्व भी मोबाइल तथा अन्य सामान पहुँचाने के लिए सुविधा शुल्क के नाम पर लाखों रुपये की वसूली के मामले सामने आते रहे हैं लेकिन सुविधा शुल्क वसूली का सिलसिला बदस्तूर जारी है अपराधी नए-नए हथकंडे अपनाकर जेल से ही अपना साम्राज्य चला रहे हैं, सुविधा शुल्क वसूलने वालों पर पुलिस कड़ी कार्रवाई करती है लेकिन अपराधीयों ने तू डाल-डाल मैं पात-पात की कहावत को चरितार्थ करते हुए प्रदेश की सबसे हाई सिक्योरिटी जेल को ही हाइ सुविधा जेल बना डाला है!

जयपुर की चित्रकूट पुलिस ने मामले का खुलासा कर दो जेल प्रहरियों समेत 11 लोगों को गिरफ्तारी किया है, इनकी गिरफ़्तारी से सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड के आरोपी सुमित यादव को हथियार पहुँचाने की साज़िश नाकाम हो गई । जेल कर्मियों की पहचान डीडवाना निवासी पवन जांगिड़ और विक्रम सिंह के रूप में हुई है। आरोपियों से देशी कट्टा, कारतूस, चार मोबाइल. सहित अन्य सामान बरामद किया गया है। कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसफ ने बताया कि गोगामेड़ी हत्याकांड में शामिल लॉरेंस गैंग के बदमाशों ने जेल से जयपुर के व्यापारियों से फिरौती माँगी थी शिकायत पर एडिशनल कमिश्नर कैलाश विश्नोई और DCP वेस्ट अमित कुमार के नेतृत्व में टीम बनायी गई 2 माह की निगरानी में सामने आया कि बदमाशों को जेल कर्मी मोबाइल और अन्य सुविधाओं के बदले हर महीने लाखों रुपये की वसूली कर रहे हैं!

Read More  आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी में 364 छात्रों ने समर इंटर्नशिप हासिल की, 100 फीसदी प्लेसमेंट

a23f4d65-021e-4dbc-a171-f748898f55f6

Read More  हिंगोनिया गोशाला में गायों को एंटी वाटर स्मोक से दे रहे भीषण गर्मी से राहत

डीसीपी अमित कुमार ने बताया कि चित्रकूट पुलिस ने नीमराना निवासी विक्रम को हथियार और दो मोबाइल के साथ पकड़ा था विक्रम से पूछताछ में सामने आया कि दोनो मोबाइल अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में बंद सुमित यादव को देने थे, हथियार -बाइक जितेन्द्र चौधरी और राम स्वरूप ने दी थी,
रामस्वरूप पहले हत्या के मामले में जयपुर जेल में बंद था इसी दौरान उसकी सुमित से दोस्ती हुई थी, राम स्वरूप ने जेल में कैंटीन का सामान पहुँचाने वाले गंगा राम गुर्जर ,नरेश और साहिल से जेल प्रहरी पवन विक्रम के साथ सौदा तय हुआ, इसके बाद गोगामेड़ी हत्याकांड में शूटर रहे रोहित राठौड़ व नितिन फ़ौजी सहित अन्य बदमाशों को मोबाइल और अन्य सुविधाएँ मिलनी शुरू हो गई,16 मार्च को जेल प्रहरी विक्रम का मेड़ता ट्रांसफर हो गया इस दौरान बदमाशों ने जेल में CCTV कैमरे लगाने गए राकेश के साथ ड्रिल मशीन में मोबाइल रखकर भेज दिया!

Read More  लुधियाना-हिसार रेलसेवा होगी संचालित


गिरफ्तार आरोपी सुमित निवासी हरियाणा, विक्रम सिंह कोटपूतली, जीतराम चौधरी, साहिल शर्मा, राकेश जांगिड़ टोंक, गंगाराम गुर्जर अजमेर, मनोज सिंह भरतपुर, रामस्वरूप, नरेश बाड़मेर, जेलकर्मी विक्रम सिंह नागौर और पवन डीडवाना के हैं। कमिश्नर जोसफ का कहना है कि हमारी रडार पर कुछ जेलकर्मी और अधिकारी भी हैं।

About The Author

Post Comment

Comment List

Latest News

 करवाएं Jio का ये रिचार्ज, फ्री में मिलेगा Netflix करवाएं Jio का ये रिचार्ज, फ्री में मिलेगा Netflix
ओटीटी प्लेटफॉर्म पर सीरीज और मूवी देखना आज कल काफी ट्रेंड में है। लेकिन जब हमारे पास इनका सब्सक्रिप्शन नहीं...
क्रिकेट कोच आशीष शर्मा ने पूर्ण किया बीसीसीआई लेवल टू कोचिंग कोर्स
दिल्ली की सातों सीटों पर भाजपा ने किया जीत का दावा
मंदिर के पास शराब बेच रही एक महिला को पुलिस ने हिरासत में लिया
मतगणना को लेकर मतगणना केंद्र की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी ने दिए आवश्यक निर्देश
उत्तराखंड हाई कोर्ट को नैनीताल से स्थानांतरित करने के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक
देश में समान नागरिक संहिता लागू करना मेरा संकल्पः नरेन्द्र मोदी