सोडाला हाई सिक्योरिटी थाने में 20 हज़ार रुपये की रिश्वत लेते उप निरीक्षक गिरफ़्तार

On
सोडाला हाई सिक्योरिटी थाने में 20 हज़ार रुपये की रिश्वत लेते उप निरीक्षक गिरफ़्तार

सोडाला हाई सिक्योरिटी थाने में शुक्रवार को एसीबी ने जयपुर में एक भ्रष्ट पुलिस अधिकारी को घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया. मामला जयपुर के सोडाला थाने का है.उल्लेखनीय है कि एसीबी की टीम ने जयपुर के जिस सोडाला थाने से घूसखोरी के मामले में पुलिस अधिकारी को गिरफ्तार किया, उसी थाने में गोगामेड़ी हत्याकांड के दो आरोपियों से एनआईए की टीम पूछताछ कर रही है. इस पूछताछ को लेकर पूरे थाने को चारों तरफ से पर्दे लगाकर ढका गया है. थाने में जाने वाले हर व्यक्ति से पूछताछ की जाती है. इन सब के बीच एसीबी ने सब इंस्पेक्टर अशोक मीणा को 20 हजार रुपए घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद आरोपी पुलिस अधिकारी से पूछताछ की जा रही है. साथ ही उसकी संपत्ति की छानबीन के लिए उसके घर और अन्य ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है. 

गोगामेड़ी हत्याकांड के आरोपियों से पूछताछ के चलते सोडाला थाने को हाई सिक्योरिटी थाना बनाया गया है अब सवाल यह उठता है कि परिवादी 20 हज़ार रुपया की रिश्वत देने आसानी से वहाँ कैसे पहुँचा क्या यह सुरक्षा से खिलवाड़ नहीं है

Read More  उफ ये गर्मी : धौलपुर में पारा पंहुचा 45 डिग्री के फेर में

कार्रवाई के बाबत एसीबी की ओर से जारी प्रेस नोट में बताया गया कि एसीबी को परिवादी ने शिकायत दी थी की एसआई अशोक मीणा थाने में दर्ज एक मुकदमे में मदद करने के लिए रुपए की डिमांड कर रहा है. इसके बाद ट्रैप की कार्रवाई को अंजाम दिया गया. जब पुलिस अधिकारी ने परिवादी से पैसे लिए, उसी समय एसीबी की टीम ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया. 

Read More  राजस्थान हाईकोर्ट ने नाबालिग सौतेली पुत्री से दुष्कर्म में मिली सजा रद्द, जांच अधिकारी पर कार्रवाई के आदेश

केस में पैरवी करने के लिए ले रहा था घूस

Read More  टोंक में दो गुटों में खूनी संघर्ष : पूर्व डीटीओ टीचर समेत छह घायल

मामले की जानकारी देते हुए डीएसपी नीरज गुरनानी ने बताया कि पुलिस अधिकारी के घूसखोरी मामले की शिकायत करने वाले परिवादी के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज है. इसकी जांच सब इंस्पेक्टर अशोक मीणा कर रहा था. केस में मदद करने के लिए आरोपी एसआई ने परिवादी से 20 हजार रुपए की डिमांड की थी. लेकिन परिवादी ने जब पैसा देने में आनाकानी की तो एसआई ने पैसों के लिए उसे धमकाना शुरू कर दिया. अशोक मीणा गिरफ्तार करने की धमकी देता था. 

26 मार्च को एसीबी के पास की गई थी शिकायत

ऐसे में तंग आकर परिवादी ने 26 मार्च को एसीबी मुख्यालय में शिकायत की. एसीबी के अधिकारियों के निर्देश पर शिकायत का सत्यापना कराया गया. मामला सही होने पर आज कार्रवाई को अंजाम दिया गया. बताया गया कि जब एसीबी की टीम थाने पहुंची, उन्हें गेट पर खड़े कमांडो ने रोक लिया. कुछ देर बाद आरोपी एसआई ने फोन करके परिवादी को थाने बुलाया. 

पहचान छिपाकर पहुंचे थे एसीबी अधिकारी  

शिकायतकर्ता को थाने में जाने से पहले एसीबी ने उसे समझा दिया था कि पैसा उनकी मौजूदगी में देना है. इसके बाद परिवादी थाने में पहुंचा. फिर एसआई अशोक मीणा द्वारा पैसे की मांग करने के बाद उसने कहा कि पैसा दूसरे व्यक्ति के पास है. उसे बुला लेता हूं. इस पर एसीबी के अधिकारी थाने के अंदर पहुंचे. ट्रैप की कार्रवाई को अंजाम दिया. एसआई से थाने में एसीबी की टीमें अभी पूछताछ कर रही है। वहीं, एसीबी की एक टीम एसआई अशोक मीणा के घर और अन्य जगहों पर सर्च कर रही है.

About The Author

Post Comment

Comment List

Latest News

 करवाएं Jio का ये रिचार्ज, फ्री में मिलेगा Netflix करवाएं Jio का ये रिचार्ज, फ्री में मिलेगा Netflix
ओटीटी प्लेटफॉर्म पर सीरीज और मूवी देखना आज कल काफी ट्रेंड में है। लेकिन जब हमारे पास इनका सब्सक्रिप्शन नहीं...
क्रिकेट कोच आशीष शर्मा ने पूर्ण किया बीसीसीआई लेवल टू कोचिंग कोर्स
दिल्ली की सातों सीटों पर भाजपा ने किया जीत का दावा
मंदिर के पास शराब बेच रही एक महिला को पुलिस ने हिरासत में लिया
मतगणना को लेकर मतगणना केंद्र की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी ने दिए आवश्यक निर्देश
उत्तराखंड हाई कोर्ट को नैनीताल से स्थानांतरित करने के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक
देश में समान नागरिक संहिता लागू करना मेरा संकल्पः नरेन्द्र मोदी