गुणवत्ता के साथ किसी भी प्रकार का समझोता नहीं हो, अनियमिता बरतने वालों पर सख्त कार्यवाही करें- दिया कुमारी

On
गुणवत्ता के साथ किसी भी प्रकार का समझोता नहीं हो, अनियमिता बरतने वालों पर सख्त कार्यवाही करें- दिया कुमारी

योजनाओं को कागजों की बजाये धरातल पर उतारें-दिया कुमारी

 
जयपुर, 6 जनवरी। उप मुख्यमंत्री श्रीमती दिया कुमारी ने निर्देश दिये है कि किसी भी कार्य कि गुणवत्ता के साथ किसी भी प्रकार का समझोता नहीं होना चाहिए और कार्य कि गुणवत्ता खराब करने वालों पर सख्त कार्यवाही होनी चाहिए। श्रीमती दिया कुमारी ने शनिवार को सचिवालय में आयोजित वित्त, सार्वजनिक निर्माण विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग तथा पर्यटन, कला एवं सस्कृति विभाग कि योजनाओं की समीक्षा बैठक में यह निर्देश दियैं
d1f411d6-b689-44f0-9cb5-7a8f41ede5c5
ये दिये महत्वपूर्ण निर्देश -
उप मुख्यमंत्री श्रीमती दिया कुमारी ने वित्त विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक में राजस्थान की वित्तीय स्थिति को लेकर कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की। उन्होंने राज्य की वित्तीय स्थिति,  राजस्व और विभिन्न योजनाओं पर होने वाले खर्च की विस्तार से जानकारी ली। साथ ही अधिकारियों को राज्य की आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि राजस्थान को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के साथ साथ योजनाओं का लाभ समयबद्ध तरीके से जनता तक पहुंचाने का सरकार का लक्ष्य है। 
सार्वजनिक निर्माण विभाग की समीक्षा बैठक में उन्होंने निर्देश दिये कि सडकों की गुणवत्ता खराब होने कि शिकायत नहीं आनी चाहिए। पाचं वर्ष कि गारंटी अवधि में सडक खराब हो तो जिस ठेकेदार ने सडक का निर्माण किया है, उससे उसकी रिपेयर करवाना सुनिश्चित करें। उन्होनें इस बात पर नाराजगी भी जाहिर कि की ठेकेदारों से गारंटी अवधि में सडक सही नही करवाई जाती । उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसी अनियमितता करने वाले ठेकेदार एवं संबंधित अधिकारी दोनो पर कार्यवाही होगी। उन्होंने निर्देश दिये कि ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करें कि आमजन खराब सडकों कि सीधी शिकायत कर सके और उन्हे राहत मील सके । उन्होंने कहा कि सडकों कि बार - बार खुदाई न हों और यदी किसी कारण से हों तो उसको तत्काल ठीक करवाया जायें इसके लिए सभी विभागों में समन्वय स्थापित किया जाये।
महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा बैठक में उपमुख्यमंत्री श्रीमती दिया कुमारी ने गुणवत्तापूर्ण पोषाहार वितरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।  उन्होंने कहा कि नौनिहालों को ताजा और पौष्टिक आहार पूर्ण पारदर्शिता से मिलना चाहिए। उन्होंने विद्यालयों में बालिकाओं के लिए सुरक्षा जागरूकता के कार्यक्रम चलाएं जाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि स्कूल स्तर पर ही अगर बालिकाएं सशक्त और जागरूक कर दी जाएं और उन्हें आत्मरक्षा में निपुण बना दिया जाए तो महिला अपराधों को  बहुत हद तक कम किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि योजनाओं को कागजों की बजाय धरातल पर उतारे ताकि आमजन को ज्यादा से ज्यादा फायदा मिल सके। 
पर्यटन विभाग कि समीक्षा बैठक में उन्होंने निर्देश दिए कि पर्यटन में राजस्थान कि अर्थव्यवस्था को बूस्ट देने की क्षमता है और हमे इसी दिशा में काम करना है। उन्होंने कहा कि हम पर्यटन सीजन के अलावा ऑफ सीजन के लिये भी योजना बनाये ताकि हम उस समय में खासकर ग्रीष्म ऋतु में ज्यादा से ज्यादा पर्यटकों को बुला सके। इसके लिये कुछ विशेष उत्सव आयोजित करने एवं ग्रामीण पर्यटन को बढ़ावा देने के निर्देश उन्होंने दिये। 
 
पर्यटकों की साहुलियत के लिये एक पर्यटक हेल्पलाइन या शिकायत निवारण ऑनलाईन सिस्टम को प्रभावी करने के निर्देश भी उन्होंने दिये।   
 
इस दौरान राज्य मंत्री डॉ. मंजू बाघमार सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

About The Author

Post Comment

Comment List

Latest News

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने नरेन्द्र सिंह की जानी कुशलक्षेम मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने नरेन्द्र सिंह की जानी कुशलक्षेम
दिखाते हुए बैंक लूट की वारदात को नाकाम किया था कैशियर नरेन्द्र ने
अमृत 2.0 मिशन- विस्तृत परियोजना रिपोर्ट शीघ्र प्रस्तुत करें - समित शर्मा
राजस्थान प्रशासनिक सेवा व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक तबादला सूची जारी
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता और पैनलिस्ट की घोषणा!!
‘Rose Show-2024’ में 500 से अधिक किस्म के गुलाबों की प्रदर्शनी ने लुभाया सभी का मन 
समाचार पत्रों और पत्रिकाओं का पंजीकरण अब प्रेस सेवा पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन होगा
भाजपा के प्रदेश प्रकोष्ठों के संयोजक नियुक्त