समाज के चहुंमुखी विकास के लिए शिक्षा में भारतीय मूल्यों का समावेश आवश्यक - देवनानी

On
समाज के चहुंमुखी विकास के लिए शिक्षा में भारतीय मूल्यों का समावेश आवश्यक - देवनानी

जयपुर, 23 दिसम्बर। राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष श्री वासुदेव देवनानी ने समाज के चहुंमुखी विकास के लिए शिक्षा में भारतीय मूल्यों के समावेश की आवश्यकता प्रतिपादित की है। उन्होंने कहा है कि हमारा भारतीय समाज लोकतंत्रीय व्यवस्था वाला है। विकास के लिए शिक्षा आवश्यक है । भारत की शिक्षा संस्कृति पर आधारित है। मातृ भाषा में शिक्षा का प्रसार होना चाहिए।

श्री देवनानी शनिवार को यहां राजस्थान विश्वविद्यालय के मानव संसाधन विकास केन्द्र में आयोजित भारतीय शिक्षा मंडल के अखिल भारतीय अधिकारी अभ्यास वर्ग सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर शिक्षा के प्रमुख विषयों पर अनुसंधान आधारित पुस्तक का विमोचन किया।
श्री देवनानी ने कहा कि मानव जीवन का प्रकृति के साथ सामंजस्य होना और राष्ट्रीय पुनरउत्थान के लिए शिक्षा का भारतीय मूल्यों पर आधारित होना आवश्यक है। इसके लिए भारतीय संस्कृति के विभिन्न पहलुओं पर अनुसंधान किया जाना चाहिए। भारत की संस्कृति और दर्शन दूसरे देशों से भिन्न है। भारतीय शिक्षा में वसुधैव कुटुम्बकम और सर्वेभवन्तु सुखीन का दर्शन समाहित है।
उन्होंने कहा कि शिक्षा केवल रोजगार का आधार मात्र ही नही होना चाहिए बल्कि मानव जीवन को सामर्थ्यवान और संस्कारवान बनाने वाली शिक्षा होनी चाहिए।

Read More भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता और पैनलिस्ट की घोषणा!!

About The Author

Post Comment

Comment List

Latest News

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने नरेन्द्र सिंह की जानी कुशलक्षेम मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने नरेन्द्र सिंह की जानी कुशलक्षेम
दिखाते हुए बैंक लूट की वारदात को नाकाम किया था कैशियर नरेन्द्र ने
अमृत 2.0 मिशन- विस्तृत परियोजना रिपोर्ट शीघ्र प्रस्तुत करें - समित शर्मा
राजस्थान प्रशासनिक सेवा व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक तबादला सूची जारी
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता और पैनलिस्ट की घोषणा!!
‘Rose Show-2024’ में 500 से अधिक किस्म के गुलाबों की प्रदर्शनी ने लुभाया सभी का मन 
समाचार पत्रों और पत्रिकाओं का पंजीकरण अब प्रेस सेवा पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन होगा
भाजपा के प्रदेश प्रकोष्ठों के संयोजक नियुक्त