तीन थानों में वांटेड मिस्टर नटवरलाल गिरफ्तार

10 हजार रुपये का है इनामी

On
तीन थानों में वांटेड मिस्टर नटवरलाल गिरफ्तार

सेना में कर्नल बता युवाओं को सरकारी नौकरी का झांसा देकर करोड़ों रुपए ठगे

भीलवाड़ा 22 अक्टूबर। युवाओं को सरकारी नौकरी लगाने का झांसा देकर करोड़ों रुपए ठगने के आरोपी चौथ का बरवाड़ा सवाई माधोपुर हाल निवाई टोंक निवासी तथाकथित करनाल प्रेम सिंह उर्फ प्रेमचंद उर्फ छीतर सिंह बैसला पुत्र जगदीश उर्फ जग्गा गुलाबपुरा थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। 

     एसपी श्याम सिंह ने बताया कि आरोपी की गिरफ्तारी पर 10 हजार का इनाम घोषित है। पूछताछ में आरोपी ने सीकर, झुंझुनू, जोधपुर, कुचामन, जयपुर, टोंक, कोटा व भीलवाड़ा के बेरोजगार युवाओं को सरकारी नौकरी लगने का झांसा देकर बड़ी रकम ऐंठना स्वीकार किया है। आरोपी कोतवाली टोंक, टोडारायसिंह और देवली थानों में वांटेड है।
     एसपी सिंह ने बताया कि सीकर के लक्ष्मणगढ़ निवासी पीड़ित राजेश कुमार जांगिड ने रिर्पोट दी थी कि वर्ष 2021 में उसने पटवारी की परीक्षा, भाभी आशा व एक रिश्तेदार ने रीट की व साले राकेश ने ग्राम सेवक की परीक्षा दी थी। इसी दौरान भीलवाड़ा के आगुचा में उसका परिचय प्रेम सिंह बैसला से हुआ। जिसने अपने आपको करोली निवासी व सेना में कर्नल बताया। चारों को नौकरी दिलाने के नाम से कुल 72.50 लाख रूपये की मांग की। 
    विश्वास कर उसने अपने रिश्तेदारों की उपस्थिति में दो बार मे पूरी रकम दे दी। भर्ती परीक्षा में चारों में से किसी का भी चयन नहीं हुआ तो उन्होंने अपनी रकम का तकाजा किया तो पहले तो लौटाने का भरोसा दिलाता रहा, बाद में साफ मना कर दिया और जान से मारने की धमकी दी।
 *राज्य स्तरीय ठग पर रखा था दस हजार का ईनाम* 
मामले की गम्भीरता एवं बेरोजगार युवाओ के साथ हुई ठगी को देखते हुये  गिरफ्तारी पर दस हजार का ईनाम की घोषणा की गई थी।
      आरोपी की गिरफ्तारी के लिए एसपी श्याम सिंह द्वारा सीओ गुलाबपुरा के सुपरविजन व एसएचओ सुगन सिंह के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। टीम ने सात दिन तक उदयपुर, राजसमन्द व देलवाडा में अथक प्रयास कर आसुचना एकत्रित कर तथाकथित कर्नल प्रेम सिंह उर्फ छीतर सिंह बैसला को गिरफतार कर लिया।
 *देलवाडा में धाक जमाने करवा रहा था गरबा का आयोजन* 
जब पुलिस टीम ईनामी बदमाश के निवास पर पहुची, तब एक बारगी लोगों को विश्वास नही हुआ कि पिछले दो महीनों से रिटार्यड कर्नल बनकर रहने वाला प्रेम सिह फर्जी भी हो सकता है। लोगो को कारगिल युद्ध के साहसिक किस्से सुनाकर सेना नेतृत्व करने की बातें बताकर लोगों में अपना रोब जमा रखा था। इसने खुद के फाईव स्टार होटल निर्माण की बातें बताकर स्थानीय निवासीयों को भी होटल में नौकरी लगाने का झांसा देकर सेवा करवाने लगा।
 *भारतीय सेना से तथाकथित कर्नल का हो रखा है कोर्टमार्शल* 
ठग प्रेमसिह उर्फ छीतरमल बैंसला का सन 1998 में जहाजपुर थाने में भारतीय सेना और बैंक में नौकरी लगाने के प्रकरण में चालान होने तथा 2003 में कोर्ट द्वारा सजा सुनाने की सूचना पर भारतीय सेना द्वारा कोर्टमार्शल किया गया था ।
 *पैरोल के लिये भी किया फर्जीवाडा* 
तथाकथित झांसेबाज फर्जी नौकरी लगाने के नाम रूपये ऐंठने एवं जाली नियुक्त पत्र तैयार करने के मामले में 07 वर्ष सश्रम कारावास की सजा हुयी। सजा के दौरान पैरोल के लिये गांव वालों द्वारा जमानत देने से इन्कार करने पर इसने फर्जी तरीके से निवाई के मकान का किरायानामा तैयार कराया। पैरोल की जमानत भी हत्या के मामले में सजायाप्ता जेल के बंदी के परिजनो से करवायी तथा तस्दीक शुदा जमानत तहसील कार्यालय देवली से सेवानिवृत कर्मी के परिजनो से करवायी।
    प्रेम सिह बैसला ने देवली तहसील में कार्यरत भोजाराम को शेयर मार्केट में धन दुगुना करने का लालच देकर पेंशन के 50 लाख रूपये डकार लिए थे। उसकी मृत्यु के बाद भोजाराम के परिजनों को लालच दिया कि पैरोल पर आकर वह उनके रूपये लौटने की कह घर की तस्दीक शुदा 02 लाख रूपये की जमानत देने को कहा। भोजाराम की पत्नि ने स्वयं के घर की तस्दीक शुदा जमानत दी। प्रेमसिह के पैरोल से नहीं जाने के कारण जमानत जप्त हो गयी तथा भोजाराम के परिजनो को जुर्मानें के 02 लाख रूपयें भी जमा कराने पडे ।
 *देवली के रिटायर्ड सैन्यकर्मी के भी लगाया 92 लाख का चूना* 
मि० नटवरलाल इतना शातिर निकला कि पैरोल से फरारी के दौरान देवली के रिटायर्ड सैन्यकर्मी तथा उसके परिजनो को अच्छी सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर 92 लाख की चपत लगा दी।थाना देवली में दर्ज मामले में ठग प्रेम सिह बैसला वाछित हैं ।
 *सरकारी अध्यापिका से कर्नल बनकर की चौथी शादी* 
अपने आप को भारतीय सेना का कर्नल बता कर सरकारी अध्यापिका को अपने प्रेमजाल में फंसा कर शादी कर ली। जेल से 40 दिन की पैरोल के दौरान अध्यापिका के घर पर ही रूकता तथा छुटटी पुरी होने की बात कहकर पुन जेल चला जाता। अध्यापिका अभी भी अनजान है। आरोपी ने पूर्व में भी तीन शादियां कर रखी थी ।
 *बलात्कार के मामले में भी जा चुका है जेल* 
सन 2014 में पीपल खूंट थाने में दर्ज बलात्कार के प्रकरण में तथाकथित कर्नल प्रेमसिह बैसला को पुलिस ने गिरफतार किया था। इस प्रकरण में आरोपी ने अपने खेत में काम करने वाली मजदूर महिला को शादी का झांसा दिया तथा थोडे दिन साथ रख शारीरिक शोषण कर महिला को वापस छोड दिया था।
               ------------

Read More  देश में मधुमक्खियों से शहद का कुल उत्पादन सवा लाख मैट्रिक टन से अधिक

About The Author

Post Comment

Comment List

Latest News

भीषण गर्मी में वेल्डिंग का काम कर रहे एक मजदूर की मौत एक गंभीर भीषण गर्मी में वेल्डिंग का काम कर रहे एक मजदूर की मौत एक गंभीर
    राजस्थान में गर्मी का कहर जारी है। यह कहर आगे कुछ और दिन जारी रहने वाला है। कल से
सूरजपोल अनाज मंडी में 2 हजार 470 लीटर सरसों तेल सीज
निदेशक आरसीएच ने यूसीएचसी सिरसी का किया निरीक्षण
ममता बनर्जी ने बांग्लादेशी घुसपैठियों एवं रोहिंग्या के लिए ओबीसी आरक्षण में डाका डाला : केशव प्रसाद मौर्य
भाजपा को नहीं बदलने देंगे संविधान' Delhi में बोले राहुल गांधी
प्रधानमंत्री मोदी का पत्र काशी में बुद्धजीवी समाज में बांट रहे भाजपा के कार्यकर्ता
टोंक में दो गुटों में खूनी संघर्ष : पूर्व डीटीओ टीचर समेत छह घायल