पुलिस के समक्ष उत्पन्न नवीनतम चुनौतियों का सामना करने के लिए श्रेष्ठ प्रशिक्षण महत्वपूर्ण-उमेश मिश्रा

On
पुलिस के समक्ष उत्पन्न नवीनतम चुनौतियों का सामना करने के लिए श्रेष्ठ प्रशिक्षण महत्वपूर्ण-उमेश मिश्रा

आरपीए में पुलिस प्रशिक्षण सम्बन्धी 3 दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला सम्पन्न

जयपुर, 6 सितम्बर। महानिदेशक पुलिस उमेश मिश्रा के मुख्य आतिथ्य में बुधवार को राजस्थान पुलिस अकादमी में पुलिस प्रशिक्षण की सर्वश्रेष्ठ पद्धतियों एवं प्रशिक्षण प्रणाली पर राष्ट्रीय कार्यशाला का संपन्न हुई। कार्यशाला में देश भर के विभिन्न प्रशिक्षण संस्थाओं के प्रमुख तथा उनके प्रतिनिधियों ने भाग लिया। 

डीजीपी मिश्रा ने पुलिस प्रशिक्षण से सम्बंधित एप का भी शुभारंभ किया। उन्होंने सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र भी वितरित किए। 

Read More  छात्रसंघ चुनाव कराने की मांग, दौसा में पानी की टंकी पर चढ़े एनएसयूआई कार्यकर्ता

Read More  भीलवाड़ा जिले में नवीन औद्योगिक क्षेत्र के लिए रीको को 99.72 हैक्टेयर भूमि का होगा आवंटन

मिश्रा ने कहा कि पुलिस के समक्ष उत्पन्न नवीनतम चुनौतियों का सामना करने के लिए श्रेष्ठ व अद्यतन प्रशिक्षण अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने साइबर व आर्थिक अपराधों की प्रभावी रोकथाम के लिए विशेष प्रशिक्षण की आवश्यकता प्रतिपादित की। उन्होंने देश के ही नहीं वरन दुनिया के श्रेष्ठ पुलिस प्रशिक्षण पद्दतियों को अपनाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि प्रभावी व त्वरित पुलिसिंग में पुलिस कर्मियों को संबंधित सतत प्रशिक्षण की महत्वपूर्ण भूमिका है। 

Read More  राजस्थान को विकास के नए पथ पर ले जाने वाला बजट : शेखावत

IMG-20230906-WA0575

डीजीपी ने प्रतिभागियों को अपने अपने प्रशिक्षण संस्थानों की सर्वश्रेष्ठ पद्धतियों एवं उनके प्रभावी क्रियान्वयन के लिए अपनाई जाने वाली प्रणाली साझा करने के लिए धन्यवाद ज्ञापित करते हुए विश्वास व्यक्त किया कि इन अनुभवो से सभी लाभान्वित हुए होंगे। उन्होंनें राजस्थान पुलिस अकादमी एवं राज्य के अन्य पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों द्वारा पुलिस प्रशिक्षण में अपनाए जा रहे नवाचारों की  सराहना की। उन्होंनें बेहतर प्रशिक्षण प्रणाली के लिए एक दूसरे की सर्वश्रेष्ठ पद्धतियों को अपनाने का आग्रह किया।

डीजीपी ट्रेनिंग श्री जंगा श्रीनिवास राव ने महानिदेशक पुलिस श्री मिश्रा व अतिथियों का स्वागत किया।उन्होंने प्रोएक्टिव तरीको को अपनाकर अपराध की रोकथाम के साथ ही नवीनतम तकनीक से अपराधियों की धरपकड़ के बारे में समुचित प्रशिक्षण आवश्यक है। उन्होंने साइबर सुरक्षा के बारे मे विशेष प्रशिक्षण प्रदान कर आमजन को साइबर सुरक्षा उपलब्ध कराने पर बल दिया। 

अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस (प्रशिक्षण) श्रीमती मालिनी अग्रवाल ने कार्यशाला के दौरान हुये सत्रो के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कार्यशाला में देश भर से आये 33 प्रतिभागियों ने भाग लिया। 
    
राजस्थान पुलिस अकादमी के निदेशक श्री पी रामजी ने प्रतिभागियों तथा अधिकारियों को धन्यवाद ज्ञापित किया। समापन सत्र का संचालन डीआइजी श्री कैलाश चन्द्र जाट ने किया। 

समापन सत्र पर आयोजित समारोह में डीजीपी क़ानून व्यवस्था श्री राजीव शर्मा, डीजीपी साइबर सेक्युरिटी श्री डॉ रवि प्रकाश मेहरड़ा  भी मौजूद थे । अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो श्री हेमन्त प्रियदर्शी, अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस मुख्यालय श्री संजय अग्रवाल, अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस रेलवे श्री अनिल पालीवाल, अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस तकनीकी सेवाएं श्री विजय कुमार सिंह सहित पुलिस मुख्यालय एवं राजस्थान पुलिस अकादमी के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

About The Author

Post Comment

Comment List

Latest News

  न्याय संहिता से त्वरित न्याय मिलेगा और विश्वास भी बढ़ेगा- राजेंद्र शुक्ल न्याय संहिता से त्वरित न्याय मिलेगा और विश्वास भी बढ़ेगा- राजेंद्र शुक्ल
भाेपाल । भारतीय जनता पार्टी विधि प्रकोष्ठ द्वारा शनिवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में दण्ड संहिता से न्याय संहिता की...
10वीं-12वीं स्टेट ओपन परीक्षा में बड़े फर्जीवाडे का खुलासाः डमी अभ्यर्थी के रूप में परीक्षा देते बीस को पकड़ा
विदेशी ताकतों के कारण भी हमें लाेकसभा चुनाव में कम सीटें मिली : सहस्त्रबुद्धे
जी-7 व्यापार मंत्रियों की बैठक में भाग लेने रेजियो कैलाब्रिया का दौरे करेंगे गोयल
हरीश रावत ने काजी निजामुद्दीन को जीत की बधाई दी
वर्ल्ड स्काईडाइविंग डेः केंद्रीय पर्यटन मंत्री शेखावत ने उड़ते विमान से लगाई छलांग
छात्रसंघ राजनीति की पहली पाठशाला : गहलाेत